DM Ka Full Form | DM का फुलफॉर्म ( in Hindi ) - Hindi Me Help | Online Internet ki Puri Jankari Hindi !

Tuesday, February 16, 2021

DM Ka Full Form | DM का फुलफॉर्म ( in Hindi )

DM ka full form/डीएम फुलफॉर्म! DM शब्द अंग्रेजी भाषा से लिया गया है जिसका अर्थ डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट होता है। आज हम  डीटेल में DM Full Form की पूरी जानकारी देने वाले है तो पूरा पढ़े। DM= डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेटDistrict magistrate= कलैक्टर collector= IAS आईएएस= जिलाधिकारी
डिस्ट्रिक्ट D से लिया गया है तथा मजिस्ट्रेट शब्द m शब्द से लिया गया है।

DM Ka Full Form

DM Meaning (in hindi )


इसके हिंदी में अनेक अर्थ होते हैं तथा डीएम को सामाजिक अथवा लोकल भाषा में अनेक नाम से जानते हैं जैसे कि डीएम/DM को डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट इंग्लिश शब्द से जानते हैं जिसका हिंदी में जिलाधिकारी अर्थ होता है।
इसी प्रकार डीएम DM को जिलाधिकारी, कलेक्टर, आईएएस आदि नामों से जाना जाता है। डीएम DM का प्रचलित सामाजिक नाम कलेक्टर है तथा भारत के अनेक लोग डीएम DM को कलेक्टर के नाम से ही संबोधित करते हैं।

डीएम / DM कैसे बनते हैं?

डीएम DM या जिलाधिकारी बनने के लिए संघ लोक सेवा आयोग से पूरे भारत में यूपीएससी UPSC नामक परीक्षा का आयोजन किया जाता है तथा इसी परीक्षा के माध्यम से उच्चतम श्रेणी जिलाधिकारी या कलेक्टर(IAS) से लेकर  (IPS,IFS,IFOS,IRS) आईपीएस,आईएफएस, आईएफओएस तथा आईआरएस आदि पोस्टों को उच्चतम श्रेणी व रैंक सूची के आधार पर उपलब्ध कराई जाती है।
अगर आप डीएम या कलेक्टर बनना चाहते हैं तो उसके लिए आपको आईएएस की मुख्य पोस्ट को उत्तम अंक लाकर चयनित करना होगा तथा इस  पद पर जाने के लिए यूपीएससी परीक्षा को उत्तीर्ण करके उच्चतम रैंक लाना अनिवार्य होता है क्योंकि यह पोस्ट  ALL INDIA रैंक के आधार पर ही दिया जाता है।

DM का क्या कार्य होता है?


डीएम का सामान्यता सामाजिक से लेकर राजनीतिक तक का सफर के बीच आने वाले सभी कार्यों को सुनिश्चित रूप से आगे बढ़ाना ही मुख्य कार्य होता है। डीएम को किसी भी राज्य के किसी एक जिले को सौंपा जाता है तथा पूरे जिले की कार्यशैली आदि सभी प्रकार के कार्यप्रणाली को रखा जाता है जिलाधिकारी जिले से लेकर के केंद्रीय सरकार तक किसी भी प्रकार की व्यवस्था तथा अन्य किसी प्रकार की स्कीम को शुरू करके जिले में उन्नति कराने हेतु कार्य करते हैं।

यह पर भारत का ही नहीं बल्कि पूरे एशिया का सबसे बड़ा पद होता है जो जिले से लेकर के केंद्रीय सरकार तक अनेक जिम्मेदारियों को संभालना पड़ता है।
अगर हम सामान्यतः देखें तो डीएम का कार्य काफी हल्का लगता है लेकिन यह बहुत ही बड़ी जिम्मेदारी वाला पद होता है जिसे संभालने के लिए जिलाधिकारी के अलावा कोई और नहीं हो सकता इसीलिए ऐसे इस पद पर ऐसे लोगों को रखा जाता है।

जो इसके काबिल हो तथा इसी को ध्यान में रखते हुए संघ लोक सेवा आयोग के द्वारा एशिया की सबसे कठिन परीक्षा जिसे यूपीएससी के नाम से जानते हैं को प्रतिवर्ष लिया जाता है तथा पूरे भारत से चुनिंदा तथा व होनहार छात्रों को चयनित करके उनकी काबिलियत और रैंक के आधार पर इस प्रकार के पदों को दिया जाता है।


डीएम के पास सबसे अधिक कार्य क्षमता होती है तथा इसी के कारण वह पूरे जिले को आसानी से संभाल पाता है कभी-कभी देश में किसी अन्य प्रकार की चुनौतियों का सामना करने के लिए पूरे भारत देश के सभी डीएम की राह को जानते हुए मुख्य रूप से प्रधानमंत्री भी इन्हीं के आधार पर कार्य करते हैं तथा इसी प्रकार पूरा सिस्टम चलता है।
डीएम के अनुरूप और भी अलग पद होता है जिसे हम कैबिनेट सेक्रेटरी कहते हैं।

जो देश के माननीय प्रधानमंत्री से राष्ट्रपति के बीच की मजबूत कढ़ी होती है, कैबिनेट सेक्रेटरी का पद भी एक डीएम ही संभालता है जो डीएम पर पद पर कार्यरत होने के बाद कुछ ऐसे डीएम को चुना जाता है जो कम कम उम्र में आईएस को क्लियर करके जिले को संभाला हैं तथा इन्हीं को बाद में कैबिनेट सेक्रेटरी के पद पर बिठा दिया जाता है।

DM की सैलरी?

डीएम पद की बात करें तो इसमें सैलरी को कोई मुख्य महत्व नहीं दिया जाता है क्योंकि डीएम वह पद होता है जिसे सैलरी से संबंधित कोई भी शिकायत नहीं होती क्योंकि पूरा देश ही डीएम के आधार पर ही चलता है। भारत सरकार द्वारा सुनिश्चित की गई डीएम की सैलरी कोई खास सैलरी नहीं है तथा इसे इतना महत्त्व भी नहीं दिया जाता फिर भी अगर हम डीएम की सैलरी की बात करें तो ₹60000 प्रति महीने से लेकर ₹280000 तक होती है डीएम की सबसे अधिक सैलरी 280000 या इससे अधिक कैबिनेट सेक्रेटरी पद पर होती है।

शुरुआती समय में डीएम के पद पर कार्यरत व्यक्ति को ₹60000 प्रति महीने दिए जाते हैं। यह सिर्फ बेसिक तनख्वाह या सैलरी होती है क्योंकि भारत सरकार द्वारा डीएम के लिए ऐसी अनेक सुविधाएं दी जाती हैं जो किसी अन्य पद को नहीं दी जाती,
तो अगर हम उन सभी सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए डीएम की निम्नतम सैलरी को देखें तो वह लगभग ₹1.5 लाख़ प्रति महीने होगी।

DM पॉवर/perks!

अगर डीएम की शक्ति की बात करें तो यह पूरे जिले का सबसे अधिक पावरफुल होने के साथ राष्ट्र का भी पावरफुल व्यक्ति माना जाता है। क्योंकि पूरे देश का सिस्टम भारत के समस्त जिले की जिलाधिकारी के द्वारा ही चलता है।
डीएम एक ऐसा पद है जो किसी अन्य पद से जुड़ा हुआ नहीं है तथा यह किसी अन्य पद के अनुसार भी कार्य नहीं करता बल्कि समस्त प्रकार के पद डीएमDM के आधार पर ही कार्य करते हैं। डीएम को अन्य पोस्टों के तरह सस्पेंड है या ट्रांसफर नहीं किया जा सकता है, डीएम पर कार्यवाही करने के लिए विशेष रूप से कमेटी कार्य करती है तथा यह बात देश के माननीय प्रधानमंत्री तक जाती है तथा लंबी प्रक्रिया के बाद डीएम पर कोई एक्शन या कार्यवाही की जाती है।

अगर हम जिले की बात करें तो जिले में कोई भी ऐसा नहीं होता जो डीएम का मुक़ाबला कर सके डीएम के साथ पुलिस फोर्स के कुछ मुख्य पद कार्य करते हैं, यह मुख्यत आइपीएस रैंक के लोग होते हैं जैसे कि एसपी तथा एसएसपी।

सरकार द्वारा DM को दी जाने वाली अन्य सुविधाएं !
जैसे कि हम पहले ही बात कर चुके हैं कि डीएम को भारत सरकार द्वारा सबसे अधिक सुविधाएं दी जाती हैं जो सुविधाएं किसी अन्य पद के लिए नहीं दी जाती।
इसमें भारत सरकार कि नहीं जिम्मेदारी होती है कि डीएम को पूर्ण रूप से सुरक्षा और सुविधा दे सकें।
डीएम जिस भी जिले को संभालता है उस जिले में उसे एक बांग्ला दिया जाता है तथा उस से संबंधित समस्त प्रकार की सुविधाएं जैसे कि बिजली बिल, टेलीफोन बिल, पानी बिल, परिवहन तथा गाड़ी भी दी जाती है।

डीएम एक ऐसा पद होता है जो सरकार द्वारा दी गई गाड़ी को खुद के लिए भी उपयोग कर सकता है तथा वह इसे खुद की सोशल लाइफ में भी उपयोग में ले सकता है इसके अलावा कोई भी ऐसा पद नहीं है जिसे भारत सरकार द्वारा दी गई गाड़ी का उपयोग खुद के सोशल जीवन में उपयोग कर सकें यहां तक कि एक आईपीएस ऑफिसर को भी कार्य से संबंध ही गाड़ी दी जाती है इसके अलावा वह इस गाड़ी का उपयोग कहीं भी नहीं कर सकता।
इसके अलावा डीएम को फुल सुरक्षा बल भी दिया जाता है तथा और भी अनेक छोटी-छोटी सुविधाएं होती हैं जो मुख्यता डीएम को दी जाती है।

Final word Dm ka full form in hindi !

में आशा करता हु Dm Full Form में बताई हुई सारी जानकारी धयान से अपने पढ़ा होगा और आपको बहुत कुछ सीखने को मिला होगा। और आप अभी पढ़ाई कर रहे है। और अपने Dm की पद हासिल करने की ठान लिया है तो आपके ये जानकारी भी जरूर पसंद आया होगा, आप चाहे तो इस पोस्ट को शेयर करके दुसरो की भी हेल्प करे। में मिलता हु नेक्स्ट आर्टिकल में धन्यवाद।